Achievements

1 क्लस्टर आधारित ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना

क्लस्टर आधारित ठोस अपशिष्ट प्रबंधन योजना मे तीन जिलो क्रमश रीवा, सतना, सीधी के 28 नगरीय निकायों के अपषिष्ट से 06 मेगावट बिजली का उत्पादन किया जाना प्रस्तावित है।
इस कार्य हेतु प्राइवेट कम्पनियों के माध्यम से एम.एस.डब्ल्यू.एम. की जिम्मेदारी नगरीय निकायों को सौंपी गई। राज्य सरकार ने सभी नगरीय निकायों मे क्षेत्रीय लैण्डफिल साईट की संकल्पना के आधार पर नगरीय निकायों को संगठित कर ठोस अपशिष्ट प्रबंधन लागू करने का फैसला लिया है। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि प्रधानमंत्री ने 2019 तक भारत को एक स्वच्छ देश बनाने की घोषणा की है। पहले कदम के रूप में मध्यप्रदेश सरकार ने अगले तीन वर्षो मे सभी नगरीय निकायों में एम.एस.डब्ल्यू.एम. लागू करने का फैसला लिया है।

2 अमृत योजना

अमृत योजना के तहत सीवरेज परियोजना मे 488 किलो मीटर मेन पाईप लाईन एवं 217 किलोमीटर कनेक्षन पाईप लाईन बिछाने का प्रावधान है। जिसमे लगभग 56,000 परिवार लाभान्वित होगें। इस योजना के तहत रूपये 176 करोड़ का कार्य कराया जाना प्रस्तावित है।

3 डोर-टू-डोर कलेकशन

डोर-टू-डोर कलेकशन की योजना नगर निगम रीवा मे चालू की गई है जिसमे गार्वेज रिक्से के द्वारा घर-घर से कचरा इक्टठा किया जा रहा है। नगर निगम रीवा द्वारा प्रोजेक्ट स्वर्ग के तहत डोर-टू-डोर कचरा एकत्र करने की योजना चालू की गई है, इसमे गार्वेज रिक्से द्वारा प्रत्येक घर से कचरा एकत्रित कर कचरा प्वाइंट मे डाला जाता है और कचरा प्वाइंट से उक्त कचरा उठा कर कोष्टा प्लांट मे वाहनो द्वारा ले जाया जाता है।

4 परिवहन सिटी बस विकास योजना

शहर मे यातायात का दवाब कम करने एवं लोगो को सस्ती नगर वाहन सेवा उपलब्ध कराने हेतु वर्तमान में सिटी बस विकास योजना का डी.पी.आर. 2555.75 लाख का तैयार किया गया है, इस योजना के तहत 40 सिटी बस शहर मे चलाने का प्रावधान है।